देश भक्ति की कवितायें Archive

महाराणा प्रताप शायरी – महाराणा प्रताप जयंती पर शायरी, राणा प्रताप पर शायरी, राणा प्रताप जयंती शायरी

महाराणा प्रताप शायरी – उड़ती बात के सभी क़द्रदानों को अमित मौलिक का स्नेहिल अभिवादन। राजपूत योद्धा महाप्रतापी परम् वीर महाराणा प्रताप भारतीय इतिहास के एक ऐसे योद्धा रहे हैं जिनसे प्रेरणा लेकर भारतीय स्वतंत्रता संग्राम मेे हज़ारों नौजवान वीर क्रूर फ़िरंगियों से लोहा लेते रहे हैं। आन बान और शान के जीवंत प्रतीक महाराणा

रबीन्द्रनाथ टैगोर पर कविता – रविंद्रनाथ टैगोर पर कविता , रबीन्द्रनाथ टैगोर जयंती पर कविता, rabindranath tagor poem in hindi

रबीन्द्रनाथ टैगोर पर कविता – नमस्कार दोस्तो, आने वाली 7 May को विश्वविख्यात कवि महान साहित्यकार नोबेल पुरस्कार से सम्मानित महामना रविंद्रनाथ टैगोर जी की जयंती है। आज के आर्टीकल रबीन्द्रनाथ टैगोर पर कविता के द्वारा मैं इस महान विभूति को हृदयांजली अर्पित करना चाहता हूँ। रबीन्द्रनाथ टैगोर पर कविता में मैंने उनकी उपलब्धियाँ समाविष्ट

महाराणा प्रताप पर कविता इन हिंदी – मेवाड़ का वीर कविता, महाराणा प्रताप पर कविता, महाराणा प्रताप जयंती पर कविता, Maharana pratap par kavita

महाराणा प्रताप पर कविता इन हिंदी – उड़ती बात के सभी सुधि पाठकों को अमित मौलिक का सादर अभिवादन। मित्रो, अद्वितीय शौर्य और बेमिसाल साहस के स्तंभ महाराणा प्रताप की सच्ची कहानियाँ भारतीयों को आकर्षित करती रहीं हैं। आज का आर्टीकल महाराणा प्रताप पर कविता इन हिंदी के द्वारा मैंने उनके अतुलित शौर्य को अपनी

कुंवर सिंह पर कविता – एक 80 साल के महाबली एवम स्वतंत्रता संग्राम के रक्त रंजित इतिहास के सबसे बुज़ुर्ग योद्धा जिन्होंने अंग्रेजों के छक्के छुड़ा दिये थे

कुंवर सिंह पर कविता – ब्रिटिश इतिहासकार होम्स ने उनके बारे में लिखा है, ‘उस बूढ़े राजपूत ने ब्रिटिश सत्ता के विरुद्ध अद्भुत वीरता और आन-बान के साथ लड़ाई लड़ी। यह गनीमत थी कि युद्ध के समय कुंवर सिंह की उम्र अस्सी के करीब थी। अगर वह जवान होते तो शायद अंग्रेजों को 1857 में ही भारत

देशभक्ति पर एक बहुत ही ओजमयी कविता । Deshbhakti par kavita

देशभक्ति पर एक बहुत ही ओजमयी कविता – यह वतनपरस्ती पर कविता महज़ एक कविता नहीं है, एक आक्रोश भरा नाद है। अपने देश की तरक़्क़ी में रोड़ा अटकाने वालों के ऊपर तेज़ाबी हुँकार बरसाती यह रचना देशभक्ति पर एक बहुत ही ओजमयी कविता आपकी नसों में रक्तिम उबाल ला देगी ऐसा मेरा विश्वास है। यह देशभक्ति की कविता

Matdaata jaagrukta par kavita-मतदाता जागरूकता पर हिंदी कविता । जागो मतदाता जागो पर कविता। देशभक्ति कविता

मतदाता जागरूकता पर हिंदी कविता – देश में चुनावी माहौल है और मतदाता के काँधों पर सही उम्मीदवारों को चुनने की महती ज़िम्मेदारी होती है जिससे एक सही सरकार का गठन किया जा सके। प्रस्तुत है मतदाता जागरूकता पर हिंदी कविता पढें और मतदाता के रूप में जागरूक हों और अन्यों को जागरूक करें। मतदाता जागरूकता

फिल्म पद्मावती विवाद – Poem on film padmavati controversy in hindi, फिल्म पद्मावती विवाद पर कविता

फिल्म पद्मावती विवाद – फिल्मकार संजय लीला भंसाली की फ़िल्म पद्मावती जो कि अब फ़िल्म पद्मावत के नाम से released हुई है, पर विवाद थमने का नाम ही नहीं ले रहा है। एक बात तो तय है कि सती रानी पद्मिनी के चरित्र के फिल्मांकन में कुछ न कुछ मर्यादाओं का उलंघन हुआ है। अलाउद्दीन खिलज़ी की काली

Deshbhakti kavitayen – Patriotic Poetries : देशभक्ति कविता, देशभक्ति पर 3 कवितायें, 26 जनवरी पर कवितायें

Deshbhakti kavitayen – Patriotic Poetries : गणतंत्र दिवस के उपलक्ष्य में प्रस्तुत है 3 देशभक्ति कविताओं का शानदार संग्रह। इस आर्टिकल Deshbhakti kavitayen – Patriotic Poetries में संग्रहित कवितायें सरल सहज और छोटी हैं जो किसी भी सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति में बच्चों एवम बड़ों के द्वारा पढ़ीं जा सकती हैं। जय हिंद Deshbhakti kavitayen

देशभक्ति शायरी – देशभक्ति मंच संचालन शायरी पार्ट 2 : Patriotic anchoring shayari, Patriotic Poetry, 26 January shayari

देशभक्ति शायरी – देशभक्ति मंच संचालन शायरी पार्ट 2 : मंच के सभी महारथियों को अमित जैन ‘मौलिक’ का जय हिंद। दोस्तों मैंने अपने पिछले पोस्ट देशभक्ति मंच संचालन शायरी पार्ट 1 में आपके समक्ष देशभक्ति शायरी का एक ऐसा संग्रह प्रस्तुत किया था जिस की मदद से आप देशभक्ति गीत की मंचीय प्रस्तुति में

देशभक्ति की शायरी इन हिंदी – Desh bhakti ki Shayari, तिरंगे पर शायरी

देशभक्ति की शायरी इन हिंदी – उड़ती बात के सभी चाहने वालों को जय हिंद। इस पोस्ट  देशभक्ति की शायरी इन हिंदी में आपके सामने प्रस्तुत है देशप्रेम शायरी का शानदार संग्रह।    देशभक्ति की शायरी इन हिंदी इक दीप जलाकर कर श्रद्धा का भीगी भीगी सी अंखियाँ कुछ कुछ विनत भाव कुछ ह्रदय चाव आज़ाद
error: Content is protected !!