बलात्कारियों पर कविता – यह कविता एवं वीडियो हर उस व्यक्ति को पढना-देखना ज़रूरी है जिसके घर में बेटी, बहन, पत्नी एवम अन्य महिलायें हों।।

Click here to Download Image Of This Post

बलात्कारियों पर कविता – देश में आजकल लगभग हर रोज बलात्कार एवम दुष्कर्म की चर्चायें देखने पढ़ने और सुनने में आ रही हैं। ऐसा लगता है जैसे कि जितनी ज्यादा चर्चा इस विषय को लेकर सख्त से सख़्त सज़ा की हो रही है उतनी ही ज्यादा बलात्कारियों के हौसले बढ़ते चले जा रहे हैं। स्थिति चिंताजनक है। हमें विरोध और प्रबल करना पड़ेगा। लड़ना पड़ेगा अपनी सरकार से कि बलात्कारियों को मौत से कम सजा ना हो। आज के इस आर्टीकल बलात्कारियों पर कविता में मैंने इस विषय की भयावह स्थिति का चित्रण किया है साथ ही सरकार से मांग की है कि बलात्कारियों को फाँसी से कम सजा न हो। आशा करता हूँ कि यह रचना बलात्कारियों पर कविता इस मुहिम को आंगे बढ़ाने में एक मजबूत कदम साबित होगी।

साथ ही बलात्कारियों पर कविता के ऊपर मैंने एक वीडियो भी बनाया है। इस वीडियो को देखना न भूलें। इसे देखें लाइक करें और शेयर करके मुहिम को आंगे बढ़ाने में सहयोग करें।

आसिफ़ा कांड, उन्नाव कांड, बलात्कार पर कविता, दर्द भरी कविता, कश्मीर कांड, विधायक ने किया वलात्कार, दुष्कर्म पर कविता, दुष्कृत्यों पर कविता, दुष्कर्मियों पर कविता, बलात्कारी पर कविता, बलात्कारियों पर कविता, बलात्कारी पर बेस्ट कविता, poem on rapist in hindi, balatkar par video, video on rap, dushkarm par video, balaatkaar kvita hindi, balatkariyo par kavita hindi, ashifa par kavita, nirbhaya par kavita, daamini par kavita, balaatkaar piditon par kavita, bacchiiyon se balatkaar par kavita,

बलात्कारियों पर कविता

है इनसे लज्जित हिंदुस्तान -2
बलात्कार करने वालों का
अब हो काम तमाम
है इनसे लज्जित हिंदुस्तान -2

छिपे आदमी की शक्लों में
कई भेड़िये बचना
इनके ही कारण अब छोड़ा
हमने भरोसा करना
निर्मम वहशी और दरिंदें
आसपास रहते हैं
नहीं रहम के काबिल हैं ये
नांग सदा डसते हैं
दादा चाचा मामा मौसा
सब इनसे बदनाम
है इनसे लज्जित हिंदुस्तान -2

जिला अलीगढ़ सारसौल की
ताज़ा ताज़ा घटना
नहीं कलेजा काँप उठे तो
वहशीपन से कहना
घर में देवी माँ जगराता
एक सजाई झाँकी
बारह बर्ष की एक बालिका
दुर्गा बन कर बैठी
शेर बना था गबरू लड़का
बन बैठा शैतान
है इनसे लज्जित हिंदुस्तान -2

ये भी पढ़ें – महिला उत्पीड़न पर झकझोरने वाली कविता

ये भी पढ़ें – ताकतवर नारी बनाती एक कविता

ये भी पढ़ें – बेटी पर एक बेमिसाल कविता

ये भी पढ़ें – माँ पर दो दिल लूटने वाली ग़ज़लें

आसिफ़ा कांड, उन्नाव कांड, बलात्कार पर कविता, दर्द भरी कविता, कश्मीर कांड, विधायक ने किया वलात्कार, दुष्कर्म पर कविता, दुष्कृत्यों पर कविता, दुष्कर्मियों पर कविता, बलात्कारी पर कविता, बलात्कारियों पर कविता, बलात्कारी पर बेस्ट कविता, poem on rapist in hindi, balatkar par video, video on rap, dushkarm par video, balaatkaar kvita hindi, balatkariyo par kavita hindi, ashifa par kavita, nirbhaya par kavita, daamini par kavita, balaatkaar piditon par kavita, bacchiiyon se balatkaar par kavita,

हैं विक्षिप्त कसाई लोलुप
दर्द नहीं ये जानें
बच्चों और बड़ों में कोई
फ़र्क नहीं वो मानें
सुबह करायें कन्या भोजन
शाम को मंशा डोले
घूमें सज़्ज़न बनकर ढ़ोंगी
पहन केशरी चोले
नोंच नोंच कर खाने वाले
नरभक्षी हैवान
है इनसे लज्जित हिंदुस्तान -2

कितने कठुआ और दामिनी
और निर्भया होंगीं
कितनी मासूमों को वहशत
ज़िल्लत सहनी होंगीं
कब हम जागेंगे सीखेगें
मोदी जी बतलाओ
मौत मिले दुष्कर्मी को अब
फाँसी इन्हें चढ़ाओ
ना पेशी ना सुनवाई हो
पहुँचाओ शमशान
है इनसे लज्जित हिंदुस्तान -2

यह वीडियो ज़रूर देखें। इसे मैंने अपनी आवाज़ में गा कर पढ़ा है। इस वीडियो को लाइक करके शेयर करके इस मुहिम को आंदोलन का रूप दें। और हां वीडियो को आखिरी तक देखें मेरा दावा है कि आपकी आँखें नम हो जायेंगीं। मेरा प्रयास आपको अच्छा लगे तो चैनल को सब्सक्राइब अवश्य करें यह बिल्कुल फ्री है, जिससे मेरे आने वाले वीडियो आप समय पर देख सकें👇👇👇

यह आर्टीकल बलात्कारियों पर कविता आपको कैसा लगा। कमेंट करके अवश्य बतायें। धन्यवाद

Similar Posts:

loading...
Please follow and like us:

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!