उड़ती बात में आपका स्वागत है.. । welcome in udti baat ।

Buy Ebook

उड़ती बात में आपका स्वागत है – आज october 17, Monday को मैं, मेरे आराध्य देव, देवाधिदेव 1008 श्री आदिनाथ भगवान के श्री चरणों का सुमिरन करके, उनसे अनुमति ले कर, उनका अलौकिक आशीर्वाद लेकर अपने ब्लॉग https://udtibaat.com पर अपना पहला पोस्ट उड़ती बात में आपका स्वागत है पब्लिश कर रहा हूँ। मेरे कई मित्रों ने मुझसे पूछा कि ये उड़ती बात क्या है ? ये उड़ती बात नाम मैंने क्यों रखा। तब मेरे मन मे आया कि ज्यादा तो नही लेकिन चंद पंक्तियाँ मुझे अवश्य ही इस बारे में लिखना चाहिये। और यह आर्टिकल उड़ती बात में आपका स्वागत है आपके सामने प्रस्तुत है..

उड़ती बात में आपका स्वागत है , welcome in udtibaat,  Udti baat, udtibaat, उड़ती बात, उड़तीबात, amit jain maulik, amit maulik, amit jain, amit 'maulik' , amit maulik ki website, amit maulik ki kavita, amit maulik ke lekh, amit maulik ke artical, article of amit jain maulik, article of amit maulik, articles of amit jain, anchor amit maulik, kavi amit maulik, lekhak amit maulik, author amit maulik, udti baat kya hai, udti baat me kya likha jaata hai, अमित जैन मौलिक का ब्लॉग उड़ती बात, कवि अमित मौलिक, लेखक अमित मौलिक, एंकर अमित मौलिक  

उड़ती बात में आपका स्वागत है

जब दिल किसी विषय पर
संवेदना से भर जाता है
जब किसी बात पर
चुप रहना पड़ जाता है
जब दिल को कोई बात
सच्ची लगती है
जब खुद से मुलाक़ात
अच्छी लगती है
तब शमां
जलानी नहीं पड़ती
तब कविता
बनानी नहीं पड़ती
कविता तो
स्वयं बन जाती है
दबे ज़ज़्बात
कह जाती है
और दोस्तो
तब जो परवाज़ होती है
वही तो ‘उड़ती बात’ होती है.. 

Udtibaat mein aapka svaagat hai – aaj october 17, Monday ko mere aaraadhy dev, devadhidev 1008 shree Aadinath bhagvaan ke shree charano ka sumiran karke, unse anumati lete huye, unke alaukik ashirvad ke saath apne blog https://udtibaat.com par apanee pahlee post udti baat mein aapka swaagat hai prakaashit kar raha hun.. mere kayee mitron ne mujhse poochha ki yah udti baat kya hai? ye udti baat naam maine kyon rakha hai. Tab mere man mein aaya tha ki jyaada to nahin lekin chand panktiyaan mujhe zaroor hee iske baare mein likhna chaahiye. Aur yah article udti baat mein aapka swaagat hai aapke samne prastut hai…

उड़ती बात में आपका स्वागत है , welcome in udtibaat,  Udti baat, udtibaat, उड़ती बात, उड़तीबात, amit jain maulik, amit maulik, amit jain, amit 'maulik' , amit maulik ki website, amit maulik ki kavita, amit maulik ke lekh, amit maulik ke artical, article of amit jain maulik, article of amit maulik, articles of amit jain, anchor amit maulik, kavi amit maulik, lekhak amit maulik, author amit maulik, udti baat kya hai, udti baat me kya likha jaata hai, अमित जैन मौलिक का ब्लॉग उड़ती बात, कवि अमित मौलिक, लेखक अमित मौलिक, एंकर अमित मौलिक  

Udtibaat me apka swaagat hai

Jab dil kisee vishay par
Samvedana se bhar jaata hai,
jab kisee baat par
chup rahna pad jaata hai
jab dil ko koyee baat
sachchee lagtee hai
jab khud se mulaakaat
achchi lagtee hai
tab shama
jalaanee nahin padtee
tab kavita
banaanee nahin padtee
kavita to
Swayam ban jaati hai
dabe zazbaat
kah jaati hai
aur dosto
tab jo parwaaz hoti hai
vahee to udti baat hoti hai ..

Similar Posts:

Please follow and like us:
4 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *