Guest welcome Shayari-Gratitude’s shayari: अतिथि स्वागत शायरी आभार शायरी मेहमान स्वागत शायरी मंच शायरी पार्ट-3

Buy Ebook

Guest welcome shayari – एक अच्छे मंच संचालन में Guest welcome shayari की बहुत आवश्यकता होती है। अतिथि स्वागत शायरी की श्रंखला में यह कड़ी आपको कैसी लगी, अपनी प्रतिक्रिया अवश्य दें।

अतिथि स्वागत शायरी Guest welcome shayari

Guest welcome shayari

अतिथि स्वागत शायरी आभार शायरी

आपकी खुश्बू जग में फैले,
यश उत्तंग हिम पर्वत हो
यही दुआयें श्रीमान जी,
आपकी आयु शत शत हो।

अनुग्रहीत हैं हम आयोजक
जन जन मन उल्लास छुआ
श्रीमान जी आप पधारे
उपकृत मंच समाज हुआ।

फूल खिलते हैं जब आप मुस्काते हैं
जहाँ जाते हैं चार चाँद लगाते हैं
उस मंच की शोभा के क्या कहने
जहाँ आप जैसे अतिथि आते हैं।

किसी की मर्ज़ी तो होती है
जो फूल बागान में खिलते हैं
कोई तो हाथ थामता है
तब इरादों को आसमान मिलते हैं
हमने भगवान देखे तो नहीं हैं
पर उनके होने का यकीन होता है
जब जब भी हमें आप जैसे
नेक दिल इंसान मिलते हैं।

 ये भी पढ़ें-

◆अतिथि स्वागत के दोहे

◆ताली शायरी । तालियों वाली शायरी

फूल खिलते हैं ढेरों खिलते हैं
इत्र भी हवाओं में सभी लुटाते हैं
फ़िज़ाओं को मीठा तो वही बनाते हैं
जो आप जैसे गुलकंद बन जाते हैं।

होते हैं बेहिसाब सितारे आसमां में
पर उनका ज़िक्र कहाँ किया जाता है
जो नूर फैलाये सुरमे से घने अंधेरे में
मेरे दोस्त उसी को चाँद कहा जाता है।

वो ऐसे उठे कि आसमान बन गये
सारे जहाँ के रास्ते इमाम बन गये
हम उनके साथ इंसान नही बन पाये
वो हमारे बीच रहके भगवान बन गये।

जो तूफानों में किनारे तक पहुंचा दे
ऐसी अब कश्तियाँ नहीं मिलतीं
गम को गले से लगा कर खुशी बांटे
ऐसीं जादू की झप्पियाँ नहीं मिलतीं
ख़ुद के लिये जूझने वाले इस जहाँ में
एक ढूढों तो हज़ारों मिल जायेंगे
दूसरों की खुशी के लिये जूझने वाली
आप जैसी हस्तियां नहीं मिलतीं।

रौनकें दमक उठतीं हैं नूर फैल जाता है।
जब महफ़िल में आप सा कोई आता है।

तकलीफें तो धूप की तरह आती रहती हैं
थोड़ी हिम्मत की भी छांव होना चाहिये
हम हर मुसीबत में मुस्करा लेंगें साहिब
बस आप सा कोई पास होना चाहिये।

दिलों की भी अपनी ही एक भाषा होती है
किसी से आशा तो किसी से निराशा होती है
हमने तो कम ही लोग देखें हैं इस दुनियां में
जिनसे मिलने की बार बार अभिलाषा होती है।

इस आर्टीकल का वीडियो देखना ना भूलें। कृपया साथ ही मेरे चैनल मौलिक मंच को सब्सक्राइब (subscribed) अवश्य करें। 👇👇👇

Guest welcome Shayari

Gratitude’s shayari

Aapki khushbu jag me faile,
yash uttang him parvat ho
yahi duayen shrimaan ji,
aapaki aayu shat shat ho.

anugraheet hain ham aayojak
jan jan man ullaas chhua
shreemaan jee aap padhaare
upakrit manch samaaj hua.

phool khilte hain
jab aap muskate hain
jahaan jaate hain
chaar chaand lagate hain
us manch ki shobha
ke Kya kahane
jahaan aap jaise
Atithi aate hain

kisi ki marzi to hoti hai
jo phool baagaan mein khilte hain
koi to haath thaamta hai
Tab iraadon ko aasmaan milte hain
Hamne bhagavaan dekhe to nahin hain
par unke hone ka yakeen hota hai
jab jab bhi hame aap ke jaise
nek dil insaan milte hain.

You can read also

◆Guest welcome Shayari-part 2

◆welcome & Gratitude’s shayari-part 1

phool khilte hain dheron khilte hain
itra bhi hawaaon mein sabhi lutaate hain
fizaaon ko meetha to vahee banaate hain
jo aap jaise gulkand ban jaate hain.

hote hain behisaab sitaare aasaman mein
par unaka zikra kahaan kiya jaata hai
jo noor phailaaye surme se ghane andhere me
mere dost usee ko chaand kaha jaata hai.

vo aise uthe ki aasmaan ban gaye
saare jahaan ke raaste imaam ban gaye
Hum unke saath insaan nahin ban paaye
vo hamaare beech rahake bhagvaan ban gaye.

jo tufaanon me kinaare tak pahuncha de
Aisi ab kashteeyan nahin milteen
gam ko gale se laga kar khushi baante
Aisi jaadoo ki jhappiyan nahin milteen
Khud ke liye joojhne vaale jahaan mein
ek dhundho to hajaaron mil jayenge
doosron ki khushi ke liye jujhne wali
aap jaisi hastiyaan nahin milteen.

ronken damak uthteen hain ,
noor fail jaata hai.
jab mahfil mein aap sa koi aata hai

takleefen to dhoop ki tarah aati rahti hain
thodi himmat ki bhi chhaw hona chahiye
ham har musibat me muskra lenge saahib
bas aap sa koi paas paas hona chaahiye.

dilon ki bhi apani hi ek bhasha hoti hai
kisi se aasha to kisi se niraasha hoti hai
ham to kam hi log dekhen hain is duniya me
jinse milne ke baar baar abhilaasha hoti hai

 

Similar Posts:

Please follow and like us:
27 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *