सामूहिक उत्सव या टिफ्फिन पार्टी/ Samuhik utsav ya tiffin party

Buy Ebook

pexels-photo-169198-1

रंगो को थिरकते हुये
सपनों  को महकते हुए
पियूष छलकते हुये
सौगातें दमकते हुए
अपनों को चहकते हुए
आनंद बरसते हुए
सब देखेंगे सभी चलेंगे
सभी चलेंगे सब देखेंगे 

ख़ुश्बूओ की लड़ाई होगी
मनुहारो की बौछार होगी
व्यंजनों की लड़ाई होगी
चटओरी मैया की जयकार होगी
गटपट का उद्धार करेंगे
सब देखेंगे सभी चलेंगे 
सभी चलेंगे सब देखेंगे

अपने मन को साफ करेंगे
इक दूजे को माफ करेंगे
एक रहेंगे साथ रहेंगे
यह संकल्प सभी जन लेंगे
आनंद मेले के जलसे को
सब देखेंगे सभी चलेंगे 
सभी चलेंगे सब देखेंगे

हाँ जी!! यह सब क्षणिक वर्णन है उन अविस्मरणीय पलों का जहां परम पवित्र पर्युशन पर्व की साधना में परिष्कृत परिमार्जित श्रावक परिवारों के विशाल समूहों के सरल ह्रदय के अद्भुत मिलन से उत्पन्न सकारात्मक ऊर्जा के आनंद की थिरकन होगी रस होगा उत्सव होगा मेला होगा.. 

इसमे कोई अतिशयोक्ति नहीं की “आनंद मेला” हमारी/संस्था/समूह समाज……………………….का एक बहुत ही अद्भुत अनूठा एवम एतहासिक पुनीत प्रयास है जो अब उत्सव से अनुष्ठान में परिवर्तित हो गया है. 

स्वजनों, आनंद मेला के आयोजन में भागीदार बने. आप चाहें तो किसी व्यंजन का लघु प्रतिष्ठान का सुअवसर सुनिश्चत कर आतिथ्य सत्कार करने का लाभ उठा सकते हैं अन्यथा किसी भी अन्य वस्तु या सेवा का व्यापारिक  प्रतिष्ठान आरक्षित कर सकते हैं . बहुत सारे ग्रुप दम्पति सदस्य उत्साह से अपनी लघु प्रतिष्ठान आरक्षित कर चुके है. 

आनंद मेला- अमृत बेला ……रंगो का रेला- आनंद मेला 

अवश्य पधारे. . 

स्थान-…………. 
समय -……….बजे से 
दिनांक – 00/00/00 

Similar Posts:

Please follow and like us:

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *