महिला संगीत के लिये मंच संचालन स्क्रिप्ट। Anchoring Script for Ladies sangeet

Buy Ebook

 

 

यह वर पक्ष एवम वधु पक्ष के, सामूहिक रूप से आयोजित, महिला संगीत कार्यक्रम की Anchoring script है। आशा करता हूँ कि Ladies sangeet का कार्यक्रम करने वालों को इस स्क्रिप्ट से कुछ ना कुछ सहायता अवश्य मिलेगी।

Female Anchor-नये रिश्तों की इस मंगल बेला में, महिला संगीत के इस जश्न में, मैं……….. आप सबका ह्रदय से स्वागत करती हूँ, बधाइयां प्रेषित करती हूँ। friend’s हम सब जानते हैं कि सृजन इस सृष्टि की सबसे खूबसूरत घटना है। अगर सृजन न हो तो फूल न खिलें। खुश्बू न उड़े। गुलकंद न बने। मकरंद न बने।

मित्रो, सृजन से ही इस संसार का चक्र चलता है। और सृजन तभी होता है जब दो खूबसूरत, male और female के दिलों का समागम होता है। तब magic होता है। तब तिलिस्म होता है। तब सृष्टि झूमती है। तब ही क़ायनात का संतुलन बनता है।

 

ये भी पढ़ें- Anchoring Script Musical night
ये भी पढ़ें- Anchoring Script sthapna divas
हमारे परिवारों में ऐसे ही दो खूबसूरत दिल, सात जन्मों के लिये एक दूसरे के हो जाने को बेताब हैं। यह ईश्वरीय आदेश है। और ईश्वर के आदेश को हम सब खुशी-खुशी अपने सर माथे पर रखते हुये नवयुगल के मिलन के साक्षी बनने यहां एकत्रित हुये हैं। मैं खुशियों के इस कारवां में आप सबका चार पंक्तियों के माध्यम से स्वागत करती हूँ कि…

 

 

महिला संगीत में अतिथि स्वागत की शायरी । Guest welcome shayari for Ladies sangeet-

 

चांदनी चांद से मिलती है,
तो रौशन ज़माल करती है
खुशी से खुशी मिले,
तो ख़्वाहिश कमाल करती है
ये रंग और नूर की,
रौनके महफ़िल है मेरे यारो
ये महफ़िल सभी सितारों का,
इस्तक़बाल करती है।

एक बार आप सब अपने लिये जोरदार तालियाँ बजा दें। शुक्रिया।

मित्रो, दो दिलों का मिलन इस संसार की सबसे खूबसूरत घटना है। यह ज़ज़्बातों का ज़ज़्बातों से तब्सिरा ऐसे ही नही हो जाता। कहते हैं कि जोड़ियां ज़न्नत में तय होती हैं। एक कवि ने बहुत खूबसूरत पंक्तियाँ लिखी हैं कि-

 

जब शुभ सयोंग पनपते हैं,
जब नीले छाते तनते हैं
जन्नत से तय जब होता है,
तब धरा पे जोड़े बनते हैं।

ये भी पढ़ें- Romantic shayari
ये भी पढें- Anchoring Shayari

मैं चाहती हूँ कि हमारे आज के शाहज़हां और मुमताज़ के लिये ज़ोरदार तालियाँ बजा दी जाएं। अकबर की स्टाइल में-अभी मुझे आवाज़ नही आई। अच्छे से बजाओ। (हंसकर) बहुत ही अच्छे। शुक्रिया।

दोस्तो, जैसा कि हमारा पारंपरिक culture है, किसी भी मांगलिक प्रसंग के प्रथम चरण में हम ईश आराधना करते है। हम दिव्य ज्योति प्रज्जवलित करके जगत नियंता से कामना करते हैं कि यह मांगलिक आयोजन विघ्न रहित हो। तो आइये आज के महिला संगीत के आयोजन का शुभारंभ श्री गणेश वंदना से करते हैं।

मैं गणेश वंदना के लिये इन पंक्तियों के साथ, दूल्हे राजा की बड़ी भाभी जी श्रीमती………..को आमंत्रित करना चाहती हूं कि..

Shayari for Ganesh vandana । Shayari for God । मंगलाचरण की शायरी

 

कोई गांठ न हो पाप की
संताप की कुछ यूं करो
बहे लहर तेरे प्रताप की
बस आपकी कुछ यूं करो
तव वरद हस्त उठा दो भगवन
अधर मंगल गान दो
हे विघ्ननाशक गणपति,
सब संकटों को टाल दो।

ये भी पढ़ें- श्री गणेश वंदना
ये भी-दीप प्रज्ज्वलन के लिए शायरी

एक बार तालियों की ध्वनि से भाभी जी का हौसला बढ़ाएं। शुक्रिया

(गणेश वंदना का समापन) जोरदार तालियाँ इस मधुरतम मंगल गान के लिये।
भई बहुत खूब, ……….भाभी का कंठ तो बहुत ही मधुर है। एक बेहतर शुरुआत के लिए मैं उनका आभार करती हूं।

मैं दूल्हे के फूफा जी, दूल्हे के जीजाजी, दुल्हन के फूफा जी से एवम दुल्हन के मौसा जी से अनुरोध करती हूँ कि वो मंच पर आकर दीप प्रज्ज्वलन करें और इस आयोजन का विधिवत शुभारंभ करें। जोरदार करतल ध्वनि इन सब महानुभावों के लिये।

दोस्तो, दूल्हे की भाभी तो ख़ुब मीठी हैं। ज़रा एक बार दुल्हन की भाभी को भी check कर लिया जाये कि वो मीठी हैं या तीखी। वैसे तीखा और मीठा दोनों अपनी जगह कमाल दिखाते हैं। तो Dear freinds मैं इन दो पंक्तियों के माध्यम से आज की मुमताज़, होने वाली दुल्हन की भाभी जी को मंच पर आमंत्रित करती हूं कि वो आयें और अपनी प्रस्तुति देकर बधू पक्ष की पताका लहरायें कि..

 

झंझट किटकिट दूर हो गई
मन कैसा है आज कहो
जान बची और लाखोँ पाये
खुलकर के अब राज करो।

जोरदार तालियों से स्वागत करेंगे ननद की लाडली भाभी का।

(प्रस्तुति का समापन…) ये तो उदास हैं और इनकी उदासी इनकी performence में साफ झलक रही थी। और क्यों न हो सुसराल में एक ननद ही तो होती हैं जो भाभियों की मन की बात समझती हैं। एक बार इनके स्नेह के लिए भी करतल ध्वनि हो जाये। शुक्रिया

 

ये भी पढें- स्वागत शायरी
ये भी पढ़ें-ताली शायरी

मित्रो, ये वर पक्ष के बच्चे तो बड़े उत्साहित हैं। जबसे चार बार पूछ लिये कि उनका नंबर कब आएगा। तो चलिये एक बार इनकी performence करा देते हैं। तो मैं बुलाने जा रही हूँ आज के समय की advance generation को जो आपके सामने लेके आ रही है एक blockbustor dancing song ‘मतलबी-हो जा जरा मतलबी’ पर एक धमाकेदार performance जो आपको थिरकने पर मजबूर कर देगी।

तो 1……,2…….,3…….,4……..का ज़ोरदार तालियों के साथ स्वागत करें..

(प्रस्तुति का समापन..) अब आपको क्या तालियाँ बजाने के लिये कहना पड़ेगा। इतनी जबरदस्त performence पर तो तालियाँ बनती हैं यार। और बेचारे अपनी होने वाली चाची, ताई को कितना बढ़िया मंत्र दे रहे हैं । शुक्रिया बच्चो।

देखिये ये तालियों-वालियों के लिए मुझे बार बार न बोलना पड़े। क्योंकि जिस पक्ष से भी तालियाँ बराबर नही आईं उस पक्ष वालों के क्रम पर ऐसी फड़कती हुई शायरी बोली जायेंगीं जिस पर दूसरा पक्ष देर तक तालियाँ बजायेगा।
पंक्तियाँ कहती हूँ कि..

Similar Posts:

Please follow and like us:
11 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *