नववर्ष स्वागत समारोह मंच संचालन स्क्रिप्ट - न्यू ईयर पार्टी मंच संचालन स्क्रिप्ट । Anchoring script in hindi for new year party 2018 | उड़ती बात

नववर्ष स्वागत समारोह मंच संचालन स्क्रिप्ट – न्यू ईयर पार्टी मंच संचालन स्क्रिप्ट । Anchoring script in hindi for new year party 2018

Buy Ebook

नववर्ष स्वागत समारोह मंच संचालन स्क्रिप्ट – सर्वप्रथम उड़ती बात के सभी प्रशंसकों को नववर्ष की बहुत बहुत शुभकामनायें। दोस्तों, चारों तरफ नववर्ष के स्वागत की धूम है। हर कोई नये साल का अलग तरह से स्वागत करना चाहता है। और क्यों ना हो, नया साल उनके जीवन में नयापन जो लेकर आने वाला है। आज का यह पोस्ट नववर्ष स्वागत समारोह मंच संचालन स्क्रिप्ट मेरे एक कार्यक्रम की स्क्रिप्ट है। बिलंब से प्रकाशित कर पाने के लिये क्षमा चाहता हूँ। कुछ न्यू ईयर सेलिब्रेशन नये साल के first week में भी होते हैं। मुझे आशा है कि मेरे उन नियमित पाठकों को जो आने वाले सप्ताह में नववर्ष स्वागत समारोह की एंकरिंग करने वाले हैं, उन्हें इस न्यू ईयर पार्टी की मंच संचालन स्क्रिप्ट से कुछ ना कुछ सहायता अवश्य मिलेगी।

नववर्ष स्वागत समारोह मंच संचालन स्क्रिप्ट, न्यू ईयर पार्टी मंच संचालन स्क्रिप्ट, Anchoring script in hindi for new year party 2018, न्यू ईयर एंकरिंग स्क्रिप्ट इन हिंदी फॉन्ट, new year ki anchoring kaise karen, anchoring kaise karen, anchoring script in hindi, anchoring script in hindi font, anchoring script in hindi pdf download, anchoring script in hindi font pdf, नवबर्ष मंच संचालन स्क्रिप्ट, मंच संचालन स्क्रिप्ट, मंच संचालन कैसे करें, मंच संचालन टिप्स, हैप्पी न्यू ईयर एंकरिंग स्क्रिप्ट, नये साल की पार्टी की एंकरिंग स्क्रिप्ट, नये साल की पार्टी का मंच संचालन, नव वर्ष की मंच संचालन स्क्रिप्ट, नव वर्ष स्वागत समारोह की मंच संचालन स्क्रिप्ट, नव वर्ष पार्टी की एंकरिंग स्क्रिप्ट, नव बर्ष पार्टी मंच संचालन स्क्रिप्ट, स्क्रिप्ट इन हिंदी, stage hosting tips, नवबर्ष प्रस्तोता स्क्रिप्ट,

नववर्ष स्वागत समारोह मंच संचालन स्क्रिप्ट

एंकर मेल- स्वागतम स्वागतम स्वागतम।।।। जी हाँ दोस्तों, स्वागतम चंद घड़ियों की दूरी पर मचलते नववर्ष 2018 का, स्वागतम नये साल के दामन में समाये हसीन ख़्वाबों का, स्वागतम चहकती महकती उम्मीद भरी आशाओं का, स्वागतम नववर्ष का गर्मजोशी से इस्तक़बाल करने को आतुर सभी साथियों का। आज के इस नवबर्ष स्वागत समारोह के जश्न में संस्था दिंगम्बर जैन सोशल ग्रुप जबलपुर नगर ग्रुप की ओर से, मैं आज के कार्यक्रम का होस्ट अमित जैन ‘मौलिक’ आपका बहुत बहुत स्वागत करता हूँ।

एंकर फीमेल- जी हाँ साथियों, कहते हैं वक़्त हर मर्ज की दवा देता है, वक़्त हर दर्द को खुशी देता है, वक़्त हर होंठ को हँसी देता है। एक वक़्त ही होता है जिसके पास हमारे सारे प्रश्न, सारी आशाओं और सारे ख़्वाबों का उत्तर होता है। और अब वक़्त का बदलाव महज़ चंद क़दम दूर है। मुझे यकीन है कि नया साल आयेगा और ख़ुशियों का खज़ाना लुटायेगा। तो नये साल के स्वागत के इस जश्न में आज के कार्यक्रम की को-होस्ट छाया जैन आपका बहुत बहुत स्वागत करती हूँ।

एंकर मेल- नये साल की इस ख़ुशनुमा दस्तक पर मुझे चार पंक्तियां याद आ रही हैं कि-

मिज़ाज़ मस्ती का, खुशहाल नया लाया है
सुहाने ख़्वाब का, कमाल नया लाया है
दिलों की ख्वाहिशों को, और हवा दे देना
तुम्हारे वास्ते यह, साल नया आया है।

जी हाँ और अगर नया साल इतना कुछ हमारे लिये लेकर आने वाला है तो उसके लिये ज़ोरदार तालियां तो बनती हैं। ज़ोरदार तालियाँ।।। ये हुई ना बात।

एंकर फीमेल- वाह। सच में आप सबका उत्साह तो देखते ही बनता है। मैं मंच पर विराजमान आज के कार्यक्रम के अध्यक्ष दिगम्बर जैन पंचायत महासभा के अध्यक्ष माननीय सतेंद्र जैन जी ‘जुग्गु’ एवम मुख्य अतिथि भोपाल से पधारे फेडरेशन के राष्ट्रीय कार्यध्यक्ष माननीय सुभाष काला जी का इन पंक्तियों के माध्यम से स्वागत अभिनंदन करती हूँ कि-

ईश्वर ने बेशकीमती नगीने, निहायत ही चंद बनाये हैं।
उनमें से कुछ नायाब, आज हमारी महफ़िल में आये हैं।।

एकबार जोरदार करतल ध्वनि से हमारे गणमान्य अथितियों का अभिनंदन कर दीजिये। धन्यवाद

एंकर मेल- ह्रदय से वन्दन अभिनन्दन। मैं आज के शपथ विधि अधिकारी एवम फेडरेशन के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष माननीय श्री टी के वेद साहब, विशिष्ट अतिथि राष्ट्रीय स्तर की पत्रिका अस्तित्व बोध की प्रेरणास्रोत एवम संपादिका माननीय मंजू वेद जी एवम विशिष्ट अतिथि फेडरेशन के विंध्य महाकौशल रीजन के अध्यक्ष एवम गोमटेश्वर बाहुबली भगवान के महा मस्तकाभिषेक कलश आबंटन समिति के रीजन प्रभारी, हम सबके ऊर्जा स्रोत प्रवीण-वंदना सिंघई का इन पंक्तियों के माध्यम से स्वागत करना चाहता हूँ कि-

गुलों की खुश्बू समेटे, बसंत की हवाएं आ गईं
आप सब क्या आये महफ़िल में, बहारें आ गईं।

तालियाँ हमारे सभी डिग्निटीज़ के लिये। धन्यवाद दोस्तों, नववर्ष की आहट कह रही है कि उसके स्वागत का भी कुछ इंतज़ाम किया जाये तो चलिये आरंभ करते हैं नये साल के स्वागत का जश्न। और इस मस्तानी शाम को मैं एक गीत के साथ ख़ुशनुमा बनाना चाहता हूँ। किशोर कुमार जी का बेहद मशहूर नगमा है ‘ये शाम मस्तानी…’

(गीत का समापन)

एंकर फीमेल- वाह। बहुत ख़ूब जोरदार तालियाँ इस शानदार गीत के लिए। धन्यवाद

दोस्तो अगली प्रस्तुति बहुत ही धमाकेदार प्रस्तुति है। नगर ग्रुप के इतिहास में पहली बार संस्थापक अध्यक्ष दम्पत्ति, निवर्तमान अध्यक्ष सचिव और कोषाध्यक्ष यहाँ पर कपल डांस करेंगें और उनके डांस का प्रतिउत्तर नये अध्यक्ष सचिव कोषाध्यक्ष डांस करके देँगे। और उनके द्वारा शुरू की गई इस रचनात्मक पहल को हमारे ग्रुप के अन्य चर्चित कपल मुहिम की तरह डांस करके आंगे बढ़ाते जायेंगे।

एंकर मेल- बहुत बढ़िया, तो चलिये शुभारंभ करते हैं और हमारे ग्रुप के शीर्ष पद पर आसीन संस्थापक अध्यक्ष सम्मानीय मनोज-अर्चना जी को उनके सम्मान में प्रख्यात शायर मज़रूह सुल्तानपुरी की यह पंक्तियाँ अर्पित करते हुऐ उन्हें आमंत्रित करना चाहता हूँ कि-

मैं अकेला ही चला था ज़ानिब-ए-मंज़िल मगर
लोग साथ आते गये और कारवाँ बनता गया।

(प्रस्तुति का समापन) जोरदार तालियाँ हमारे हरदिल अज़ीज़ संस्थापक अध्यक्ष जी के लिये।

एंकर फ़ीमेल- बहुत शानदार। अब मैं कपल डांस के लिये हमारे सौम्य हंसमुख एवम चिरपरिचित पूर्व अध्यक्ष दम्पत्ति प्रदीप-कुमुद बेंटिया जी को उनके अतुल्य योगदान के लिये दो पंक्तियाँ समर्पित करते हुऐ आमंत्रित करती हूँ-

बेशक कागजों में दबकर, खों जायें आपके नूरानी किस्से
हम आपकी दिलदारी को, अपनी यादों में महफ़ूज़ रक्खेंगे

(प्रस्तुति का समापन) जोरदार तालियाँ हमारे पूर्व अध्यक्ष दम्पत्ति के लिये।

 

◆आंगे पढ़ने के लिये पेज 2 पर जायें-

Similar Posts:

Please follow and like us:
4 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!