गीत Archive

एक बहुत ही मनमोहक अतिथि स्वागत गीत। Chief guest welcome song in hindi। अतिथि अभिनंदन गीत। अतिथि स्वागत गान।

है मंच सार्थक है मंच उपकृत, श्रीमान जी जो यहाँ पधारे। हम आज गर्वित ह्रदय हैं हर्षित, अहोभाग्य हैं बड़े हमारे।। ये जन मनोहर छवि तुम्हारी, कि जैसे सूरज गगन पर चमके। यूँ मन सुकोमल जहाँ की सारी, मृदुलता वाणी से जैसे छलके। कि क्या दें परिचय बड़ा है अतिशय, नमन को आतुर नयन हमारे।।

रोमांटिक गीत-ख़ुशामद । Romantic geet-khushamad । प्यार में तकरार की नज़्म । शिकवे शिकायत की नज़्म

ख़्वाहिशें और थीं हाल हैं कुछ ज़ुदा सूरतें किस्मतों की बदलती नहीं थक गये हम दुआ मांगते मांगते हाथ की कुछ लकीरें बदलती नहीं हमने सुन लीं हैं ढेरों नसीहत है गज़ब की तुम्हारी शरीयत गर्क हो जायेंगे हम तुम्हारी कसम बेरहम ये नजीरें बदलती नहीं आपको आपकी साफगोई क्या कहूँ हर दफ़ा आँख रोई

मोहब्बत का गीत। Love song

फिर वही ख़्वाब सपना कहानी हुई फिर वहीँ से शुरू ज़िन्दगानी हुई फिर वही बेबसी तू वहाँ मैं यहाँ क्यूँ दीवाना हुआ तू दिवानी हुई लालियों में घुला शोख़ियों में मिला लब पे बिखरा भी हूँ तब तबस्सुम खिला अब तसव्वुर की बस्ती दरकने लगी आँख रोयी नमी सुर्ख पानी हुई क्यूँ दीवाना…… नर्मियों की

अतिथि स्वागत गीत-2 । Atithi swagat geet-2

धन-धन हमारे भाग हैं, श्रीमन हमारे साथ हैं हम नमन अभिनंदन करें, तव जोड़कर द्वय हाथ हैं अनुगृहित है मन मुदित है, श्री मन पधारे जो यहाँ आभा उदित है मंच पर, सूरज दमकता है यहाँ श्रीफल दुशाला पुष्प माला, से करें हम स्वागतम आतिथ्य को स्वीकार लें, उपकार कर दें श्री मनम रंगत नई

प्रेम का गीत । मोहब्बत का गीत । Love geet । Romantic geet

कोई तो सपना टूट गया है कोई तो अपना छूट गया है हम ख़ुद से हो गए बेगाने हमसे हमारा रूठ गया है कैसी मुरादों वाली ये बोली कैसी है वादों वाली बोली शहद में लिपटी ज़हर की गोली देकर कोई लूट गया है किसको दूँ तोहमत किसको दुहाई हमको मुहब्बत रास ना आयी फुरकत

रोमांटिक गीत ‘तू कहे तो’। Romantik Geet ‘Tu kahe to’

  तू कहे तो गुल बनूँ मैं पंखुड़ी सा बिखर जाऊं तू कहे तो खुश्बुओं सा हवाओं में उतर जाऊं  आसमां का एक टुकड़ा बनके तेरा नूर ले लूँ तू कहे तो चाँद बनकर गेसुओं मेँ नज़र आऊं   अवश्य पढ़ें: ग़ज़ल ‘बेशरम’ अवश्य पढ़ें: Love song   तू नज़रबंदी लगा ले धड़कनों के जमघटों पर चाँद

माँ सरस्वती वंदना। स्वागत गीत। Maa Saraswati vandana। Swagat Geet ।

  माँ सरस्वती वंदना मेरी मैया शारदे माँ मुझे अपना बना लेना  तू ममता का समंदर है मुझे कतरा बना लेना। सुरीली मुग्ध सरिताएं मेरे उर में बहा दे माँ  ह्रदय में बाँसुरी की धुन ज़रा संगीत भर दे माँ  मैं बन जाऊँ मधुर मिश्री मुझे सुर पांचवां देना।   ये भी पढ़ें: श्री गणेश

गीत-सर्वत्र तुम्हीं/Geet-Sarvatra Tumhi

   गीत  हर राग रंग हर अंतरंग, हर कण में तुम्ही तृण तृण में तुम्हीं हर गाँव-गाँव हो धूप-छांव, हो रात-रात के चाँद तुम्हीं  झरने की कल-कल मधुर ध्वनी, पहली-पहली बारिश की नमीं तुम उगते सूरज की लाली, और भौंरे का गुंजन हो तुम्हीं  बेला गुलाब की गंध तुम्हीं, तुमहीं हरी घास पै ओस के

गीत ‘किसके लिये’/Geet ‘kiske liye’

            गीत  तेरी मेहरबानी किसके लिये  तेरी कदरदानी किसके लिये  कोई तो होगा मीत तेरा  शाम सुहानी किसके लिये   बात नहीं कुछ आस नहीं कुछ  खोने को अब पास नहीं कुछ  यूँ ही परेशां रहता हूँ मैं तो  तुझसे मुहब्बत ख़ास नहीं कुछ प्रेम कहानी किसके लिये ये मनमानी किसके लिये  कोई
error: Content is protected !!