सामाजिक कवितायें Archives | उड़ती बात

Category: सामाजिक कवितायें

बलात्कारियों पर कविता – यह कविता एवं वीडियो हर उस व्यक्ति को पढना-देखना ज़रूरी है जिसके घर में बेटी, बहन, पत्नी एवम अन्य महिलायें हों।।

बलात्कारियों पर कविता – देश में आजकल लगभग हर रोज बलात्कार एवम दुष्कर्म की चर्चायें देखने पढ़ने और सुनने में आ रही हैं। ऐसा लगता है जैसे कि जितनी ज्यादा चर्चा इस विषय को लेकर सख्त से सख़्त सज़ा की हो रही है उतनी ही ज्यादा बलात्कारियों के हौसले बढ़ते चले जा रहे हैं। स्थिति

रबीन्द्रनाथ टैगोर पर कविता – रविंद्रनाथ टैगोर पर कविता , रबीन्द्रनाथ टैगोर जयंती पर कविता, rabindranath tagor poem in hindi

रबीन्द्रनाथ टैगोर पर कविता – नमस्कार दोस्तो, आने वाली 7 May को विश्वविख्यात कवि महान साहित्यकार नोबेल पुरस्कार से सम्मानित महामना रविंद्रनाथ टैगोर जी की जयंती है। आज के आर्टीकल रबीन्द्रनाथ टैगोर पर कविता के द्वारा मैं इस महान विभूति को हृदयांजली अर्पित करना चाहता हूँ। रबीन्द्रनाथ टैगोर पर कविता में मैंने उनकी उपलब्धियाँ समाविष्ट

बारात स्वागत शायरी – बारातियों के लिये स्वागत शायरी, बारातियों का स्वागत कैसे करें, बारातियों के लिये स्वागत गीत, baaraat swagat shayari in hindi

बारात स्वागत शायरी – उड़ती बात पर मेहमान स्वागत गीत और मेहमान स्वागत शायरी की उपलब्धता से अन्य सामाजिक प्रसंगों और कार्यक्रमों के लिये welcome shayari या welcome song की अपेक्षा स्वमेव ही बढ़ जाती है। आजकल विवाह का सीजन चल रहा है। हमारी संस्कृति में कई समाजों में विवाह में पधारे बारातियों के लिये

श्रमिक दिवस पर कविता – मजदूर दिवस पर कविता, लेबर डे पोएम, मई दिवस पर कविता, Sharamik divas par kavita in hindi, majdur divas par kavita in hindi

श्रमिक दिवस पर कविता – कई पाठकों के पत्र आये की मजदूर दिवस पर एक कविता अथवा श्रमिक दिवस पर कविता लिखूँ। क्योंकि कल 1 मई को श्रमिक दिवस है। यह आर्टीकल श्रमिक दिवस पर कविता मैं उन्हीं के आदेश पर प्रस्तुत कर रहा हूँ। श्रमिक दिवस को लेबर डे या मई दिवस भी कहा

भगवान बुद्ध पर कविता – बुद्ध पूर्णिमा पर एक ऐसी कविता जो बतायेगी कि बुद्ध कैसे बन सकते हैं।

भगवान बुद्ध पर कविता – बौद्ध धर्म के सभी पाठकों का स्नेहिल अभिवादन। दोस्तो, कल यानि 29 April को बुद्ध पूर्णिमा है। निश्चित रूप से बौद्ध धर्म के मतावलंबियों के लिए कल का दिन बहुत बड़ा दिन है। भगवान गौतम बुद्ध के भक्त सारे संसार मे फैले हुये हैं और बुद्ध पूर्णिमा का आयोजन समस्त

अम्बेडकर शायरी – जय भीम शायरी, अंबेडकर पर शायरी, Ambedkar shayari hindi, आम्बेडकर शायरी, आंबेडकर पर शायरी 2018, अंबेडकर जयंती पर मंच संचालन शायरी, Jay Bhim status in hindi,

अम्बेडकर शायरी – दोस्तो, संविधान निर्माता, प्रखर मनीषी महामना डॉ भीमराव अंबेडकर जयंती 14 april को आने वाली है। अम्बेडकर जयंती के अवसर पर इस आर्टिकल अम्बेडकर शायरी और जय भीम शायरी अथवा जय भीम स्टेटस के रूप में उड़ती बात स्पेशल शायरी आपके समक्ष प्रस्तुत है।  इस आर्टिकल के साथ बाबासाहेब डॉ आंबेडकर जयंती

कविता-देश का हाल । Kavita-Desh ka haal । जागो मतदाता जागो । राजनैतिक भ्रस्टाचार पर कविता इन हिंदी । hindi poem on curruption

कविता-देश का हाल : यह कविता-देश का हाल भारतीय मतदाताओं की मनःस्थिति को समझने और उन्हें जागरुक करने की दृष्टि से लिखी गई है। व्यंग्यात्मक शैली की यह कविता-देश का हाल भारतीय जनमानस को अंदर तक आंदोलित करती है और कहीं ना कहीं उनकी व्यक्तिगत जिम्मेदारी भी तय करती है। जातिगत, धार्मिक, वैयक्तिक, आर्थिक एवम

Matdaata jaagrukta par kavita-मतदाता जागरूकता पर हिंदी कविता । जागो मतदाता जागो पर कविता। देशभक्ति कविता

मतदाता जागरूकता पर हिंदी कविता – देश में चुनावी माहौल है और मतदाता के काँधों पर सही उम्मीदवारों को चुनने की महती ज़िम्मेदारी होती है जिससे एक सही सरकार का गठन किया जा सके। प्रस्तुत है मतदाता जागरूकता पर हिंदी कविता पढें और मतदाता के रूप में जागरूक हों और अन्यों को जागरूक करें। मतदाता जागरूकता

किसान पर कविता – भारतीय किसान पर कवितायें, महिला किसान पर कविता, Farmer poem in hindi, किसान की बदहाली पर कविता

किसान पर कविता – हम सब जानते हैं कि भारत एक कृषि प्रधान देश है। कितनी बिडंबना है कि एक कृषि प्रधान देश के किसान की माली हालत बद से बदतर होती जा रही है। सरकारें किसान की आर्थिक स्थिति को दुरुस्त करने के लिये एवम खेती को एक लाभदायक उपक्रम बनाने के लिये लगातार

नारी शक्ति पर कविता । Poem on women’s Day, महिला दिवस पर कविता, नारी दिवस पर कविता, स्त्री पर कविता

 नारी शक्ति पर कविता – महिला दिवस 8 मार्च 2018 के अवसर पर एक और बेबाक आर्टिकल नारी शक्ति पर कविता आपके समक्ष प्रस्तुत है। नारी सशक्तिकरण की विचारधारा को पुष्ट यह कविता महिलाओं पर समाज द्वारा थोपी गईं मर्यादाओं, प्रथाओं और विवशताओं के बंधन से आज़ाद होने का आह्वान करती है जिससे नारी शोषण
error: Content is protected !!