रोमांटिक गीत ‘तू कहे तो’। Romantik Geet ‘Tu kahe to’

Buy Ebook

 pexels-photo-26945

तू कहे तो गुल बनूँ मैं पंखुड़ी सा बिखर जाऊं
तू कहे तो खुश्बुओं सा हवाओं में उतर जाऊं 
आसमां का एक टुकड़ा बनके तेरा नूर ले लूँ
तू कहे तो चाँद बनकर गेसुओं मेँ नज़र आऊं

 

अवश्य पढ़ें: ग़ज़ल ‘बेशरम’
अवश्य पढ़ें: Love song

 

तू नज़रबंदी लगा ले धड़कनों के जमघटों पर
चाँद पर पहरा लगा दे टहलता है पर्वतों पर
नैमतों से महकती तकदीर तेरे नाम कर दूँ
तू कहे तो इब्तिदा में दुआ बनके संवर जाऊं
नाम मेरे लिख सको तो लिख दो पलकों के किनारे
शहद सी धुन मिश्रीयों से लज़्ज़तों के राग सारे
ख़ुशी के कुछ झुरमुटों से गुनगुनी सी धूप ला दूँ
तू कहे तो ख़्वाब बनकर तसब्बुर में सहर आऊं
नीर की जागीर दे दे मोतियों की पहरेदारी
पीर पलकों में रहेगी ये मेरी है जिम्मेदारी
आंसुओं की कतरनों को जुगनुओं के पंख दे दूँ
तू कहे तो चमक जाऊं तू कहे तक बरस जाऊं

Similar Posts:

Please follow and like us:
2 Comments

Add a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *