मंच संचालन स्क्रिप्ट-Manch sanchalan script

Buy Ebook

क्रम-13 सांस्कृतिक कार्यक्रम गु्रप डांस ‘‘बाहुबली’’ 

अब हमारा अगला कार्यक्रम एक ऐसा कार्यक्रम है जिसको देखकर हमारे ग्रुप  के पुरूषों की बाजुओं की मसल्स फड़फड़ाने लगेंगी जी हाँ दोस्तों यह कार्यक्रम वीर योद्धाओं के जौहर को दिखाने वाला है

इन पंक्तियों के माध्यम से अपने सभी प्रतिभागियों को मंच पर बुलाना चाहता हॅूं कि.. 

लड़ते हैं सहसवार ही मैदाने जंग मैं
वो तिल्फ क्या लड़े जो घुटनों के बल चलें। 

प्रतिभागी मंच पर आ जायें..

1……………………………….     2………………
3………………………………..    4………………

वाह क्या जोशीली प्रस्तुति थी, नीरज जी जो कि हमारे इस सांस्कृतिक प्रोग्राम के शिल्पी है उनको बहुत बहुत शुभकामनायें उनका जीवन बहुत उज्जवल हो । एक बार जोरदार तालियां इस शानदार प्रस्तुति के लिए । 

क्रम-14 सोलो डांस

तो दोस्तो, अभी हमने आपको महाराष्ट्र की यात्रा कराई है अब क्यों न आपको एक ओर सरप्राइज दे दिया जाये और कच्छ गुजरात की यात्रा कराकर वहाँ के अलबेले कल्चर से परिचय कराती हुई एक प्रस्तुति दिखा दी जाये।

अब आप कहेंगे कि क्या बात है, क्या बात है लगता है आज तो यहाँ पर सरप्राइज की बौछारें होने वाली हैं।

जी हॉं अब मैं मंच पर एक ऐसी नन्ही कलाकार को बुलाना चाहता हॅूं जो नगाड़े संग ढोल बाजे एकल नृत्य लेकर आ रही है मैं इस नृत्य की प्रतिभागी……………. को मंच पर आमंत्रित करता हॅूं कि वो आयें और प्रस्तुती दें

बहुत ही शानदार प्रस्तुति। एक बार जोरदार तालियां इस शानदार प्रस्तुति के लिए एक बार जोरदार तालियां इस शानदार कलाकार के लिए बल्कि मैं तो एक बार जोरदार तालियां इसके शानदार पैंरेट्स के लिए भी बजबाना चाहॅूंगा ।

कुछ पंक्तियॉं याद आ गई है इन बच्चों का शानदार बचपन देखकर.. 

ये दौलत भी ले लो, ये सौहरत भी ले लो
भले छीन लो मुझसे मेरी जवानी,
मगर मुझको लौटा तो बचपन का सावन
वो कागज की कश्ती वो बारिश का पानी 

क्रम-15 विशेष सम्मान-( श्री………………….द्वारा)

दोस्तों सदा ही इस धरा पे प्रत्येक काल में प्रत्येक संस्कृति में ईश्वर के ऐसे फरिश्ते होते आये हैं जिनके अभिनव एवं रचनात्मक कार्यों से समाज को एवं सस्कृति को सदा ही दिशा और दशा मिलती आई है।

ऐसे ही चंद फरिश्तों का हम आज अभिनंदन करना चाहते हैं और इस अभिनंदन क्रम के सूत्रधार हमारे ग्रुप के उपाध्यक्ष वरिष्ठ पत्रकार श्री………………जी को मैं मंच पर बुलाना चाहता हॅूं कि वो आयें और इस अभिनंदन चरण को संचालित करें । 

क्रम-16 उद्बोधन –

जोरदार तालियॉं हमारे इन समाज सेवियों के लिए।

सोशल ग्रुप जबलपुर नगर आपका अभिनंदन करके गौरवान्वित हो गया है । धन्यवाद।

दोस्तों अब कार्यक्रम का हमारा जो क्रम है वो हमारे गणमान्य मुख्य अतिथि माननीय………………..जी के उद्बोधन का है । मैं आज के माननीय मुख्य अतिथि जी से अनुरोध करूंगा कि वो मंच पर आयें और अपने उद्गार व्यक्त करके हमें अनुग्रहित करें। 

क्रम-17 सांस्कृतिक कार्यक्रम (गु्रप डांस हरियाणिवी शैली)

तो मित्रो, कार्यक्रम को अगले क्रम पर ले जाते हैं और आपको पुनः सरप्राइज देते हुए हरियाणा की यात्रा पर ले जाते हैं ।

अब तो आप कहेंगे की हम हैरान होते होते हैरान हो गये हैं, ऐसा ना हो जाये कि आप सब को पूरे देश की यात्रा करा दूँ।

जी बिल्कुल इरादे तो कुछ ऐसे ही है और इस प्रस्तुति में सबसे बड़ा जो सरप्राइज है वह यह है कि यह प्रस्तुति हमारे ग्रुप की सुपर मॉम के द्वारा दी जायेगी।

तो आप सब लोग इस शानदार प्रस्तुति के लिए तैयार हो जाईये मेरा दावा है कि इन सुपर मॉम्स की अद्भुत प्रस्तुति देखकर आप सबको हैरान रह जाना पड़ेगा।

तो जैसे कि मेरे पास जानकारी है मैं इस ग्रुप डांस के लिए इसके प्रतिभागियों को मंच पर आमंत्रित करता हॅूं।

1. श्रीमती……………………….. 2. श्रीमती…….
3. श्रीमती…………………….     4. श्रीमती…..
5. श्रीमती…………………….     6. श्रीमती…….

बहुत ही शानदार प्रस्तुती। एक बार जोरदार तालियां हमारी सुपर मॉम्स के लिए और उनकी प्रस्तुति ‘‘काल्यो कूद पड़ियो मेले में ’’ के लिये। 

क्रम-18 सोलो डांस- भारत माता वंदना

अब मैं जैसा कि कार्यक्रम का क्रम है एक सोलो डांस की प्रस्तुति आपके सामने लेकर आ रहा हूँ जिसकी थीम भारत माता की वंदना है मैं इन पंक्तियों के माध्यम से अपनी कलाकार…………को मंच पर आमंत्रित करना चाहता हूँ कि…..

ए मेरे प्यारे वतन ए मेरे महके चमन तुझ पे दिल कुर्बान.. 

बहुत ही शानदार प्रस्तुति बेवी……………के द्वारा । एक बार जोरदार तालियॉं इस शानदार प्रस्तुति के लिए। 

112 Comments

Leave a Reply