ग़ज़ल Archive

माँ पर दो बहुत ख़ूबसूरत ग़ज़लें। माँ पर दो बहुत ही शानदार ग़ज़लें। माँ पर ग़ज़ल। माँ की ग़ज़ल

  माँ पर ख़ूबसूरत ग़ज़ल-दुआयें दुआयें माँ की, कभी कम नहीं होतीं माँ तो माँ है, ख़ुदा से कम नहीं होती। माँ कल ख़ुदा से, ज़बाबतलबी करती रही मुश्किलें क्यों, बेटे की कम नही होतीं।  एक दिन मेरा बेटा भी, सिकन्दर बनेगा माँ की उम्मीदें, कभी कम नहीं होतीं। मेरा पहला गुनाह, और माँ का

2 दिल मे उतरने वाली दिलकश ग़ज़लें । 2 दिल मे उतरने वाली प्यारी ग़ज़लें। 2 ever best Gazals in hindi । ग़ज़ल । GAZAL । Love Gazals

ग़ज़ल-प्यादा मेरी उजरत कम, तेरी ज़रूरत ज्यादा है ऐ ज़िंदगी कुछ तो बता, तेरा क्या इरादा है। दांव पर ईमान लगाकर, तरक़्क़ी कर लेना आज के दौर का, फ़लसफ़ा सीधा सादा है। हड़बड़ी में दिख रहा, ख्वाहिशों का समंदर लहरों में उफान है, आसमां पे चाँद आधा है। ऐ जम्हूरियत तू भी, अब पहले जैसी

दो ऐसी शानदार-जानदार ग़ज़लें जो आपके दिलो दिमाग पर छा जायेंगीं। हिंदी रोमांटिक ग़ज़ल्स । True love gazal in hindi । 2 very very sweet gazals

ग़ज़ल-कश्मीर उन्हें इतनी शिकायत है, कि सब उनको नहीं देता मेरे हिस्से का मेरा आसमां, उनको नहीं देता। यही अंदाज़ है मेरा, नज़र अंदाज़ करता हूँ जो नामाकूल हैं उनको, तवज़्ज़ो मैं नही देता। नज़र मुझसे बचाकर चल दिये हो, याद भी रखना मुक़द्दर एक सा हर दिन, ख़ुदा सबको नहीं देता। हिसाबी मुआमला था

2 रुमानियत से भरी मदमस्त ग़ज़लें। प्यार पर ग़ज़लें । Love Ghazals । रोमांटिक ग़ज़ल इन हिंदी । पहले प्यार पर ग़ज़लें

ग़ज़ल-किस्से लेकर तारे चाँद सुहाना, तेरे आंगन खिलता है। सारे किस्से हमें पता है, गुलशन में क्या चलता है। धूप धुत्त हो छांव में लेटी, तेरे घने गेसुओं की रोज दुपहरी सूरज कुढ़ता, राहदरी में मिलता है। जुट्ट बना कर क्यारीं आयें, नंदन वन के केशर कीं शोख़ कपोलों को छू छू कर, चंदन रंग

3 ख़ूबसूरत ग़ज़लों की सुंदर प्रस्तुति। 3 शानदार ग़ज़लों की शानदार प्रस्तुति। 3 Very sweet Ghazals

  ग़ज़ल-सियासत पत्थर दिल में इश्क़ की चाहत, धीरे धीरे आती है शाम ढले ख़्वाबों की आहट, धीरे धीरे आती है। नया नवेला इश्क़ किया है, तुम भी नाज़ उठाओगे रंज-तंज़ फ़रियाद शिक़ायत, धीरे धीरे आती है। तुम तो आओ सब आयेंगे, चांद सितारे तितली फूल ज़ीनत मस्ती ज़िया शरारत, धीरे धीरे आती है। ज़हर

3 ख़ूबसूरत ग़ज़लों की शानदार प्रस्तुति। 3 अलग अलग रंगों की ग़ज़लों की मोहक प्रस्तुति । Love Ghazals

  ग़ज़ल-आशना जबसे उनसे हुई मेरी अनबन तबसे सूना है शाख-ए-नशेमन। कैसे कह दूँ के आ मेरे ज़ानिब बेमज़ा हो गया हुँ मैं जानम। जो महक ना बिखेरे फ़िज़ा में क्यों सजाये कोई ऐसा गुलशन। यूँ है आराइश-ए-आशियाना जैसे उलझा हो कांटों से दामन। फ़ासिला कुछ ज़हद ने बढ़ाया बेख़ता था सदा से ये मुल्ज़िम।

मोहब्बत की 3 सुरीली ग़ज़लें। इश्क़ की 3 ग़ज़लों की श्रृंखला। 3 Love Ghazals। 3 Very sweet Ghazals।

ग़ज़ल -दुआ दर्द बढ़ जाये तो बता देना। इश्क़ हो जाये तो जता देना।। ज़ख्म भरने लगे सभी मेरे आओ आकर कभी हवा देना। कत्ल के बाद भूल मत जाना चार आँसू कभी बहा देना। तुम तो माहिर हो झूठ कहने में फिर बहाना कोई बना देना।। तेरे पहलू में मौत आये मुझे तेरी बाहों

दो प्यार भरीं मोहक ग़ज़लें। मोहब्बत की मीठी ग़ज़लें। लव ग़ज़लस इन हिंदी। गजल इन हिंदी

  ग़ज़ल-सोहबत ये शोर कैसा है धड़कनों में, ऐ दिल बता कि क्या चल रहा है क्यों सारा आलम ये सारा मौसम, ज़हान सारा मचल रहा है। मैं कैसे कह दूँ क्या हो रहा है, कि सीने में इक कसक उठी है घुला हुआ है शहद फ़िज़ा में, कोई गुलाबों पे चल रहा है। हमारा

प्यार में भीगी दो शानदार ग़ज़लें । Love Gazal । ग़ज़ल । प्यार मोहब्बत की ग़ज़लें

ग़ज़ल-नवाज़िश नींद में चांद चल रहा होगा।। ख़्वाब कोई मचल रहा होगा। हूक़ उठती है दिल लरज़ता है कोई कहके बदल रहा होगा। वो हवाओं से बैर क्यों लेगा जो चिरागों सा जल रहा होगा। आँख नींदों से भर गया कोई ख़्वाब नैनों में मल रहा होगा। आप आये बड़ी नवाज़िश है आपका दिल पिघल

तड़पते दिल की दो मोहक ग़ज़लें । रोमांटिक ग़ज़ल । इश्क़ मोहब्बत में तड़प की ग़ज़लें । Love Gazal

ग़ज़ल-बदमाश मेरा हाल क्या है न पूछिये ये न ख़ास था ये न ख़ास है दिल कल भी था यूँ ग़मज़दा और आज भी ये उदास है। यूँ तमाशा होता है रात दिन मेरी हसरतों का न पूछिये गोया रहनुमा हो बहार का जिसे खुश्बुओं की तलाश है। ये नज़ारे चाँद धनुक घटा तेरा नूर